समय हमारे जीवन की बहुत ही अमूल्य वस्तु है क्योंकि आप खोया हुआ धन पुन कमा कर प्राप्त कर सकते है, खोया हुआ वैभव भी पुनः प्राप्त कर सकते है लेकिन खोया हुआ समय आप लाख कोशिश करने के बाद भी पुनः प्राप्त नहीं कर सकते है क्योंकि जो समय बित गया वो बित गया उसे आप वापस नहीं ला सकते है

तो चलिए जानते है बिना देरी किए Samay Ka Mahatva Nibandh In Hindi

 

Samay Ka Mahatva Essay In Hindi

Samay Ka Mahatva Essay In Hindi

विधार्थी जीवन में समय का महत्व

एक विधार्थी के जीवन में समय का बहुत महत्व होता है क्योंकि जो विधार्थी अपने विधार्थी जीवन में ही समय का महत्व जान लेता है वो आगे जाके एक सफल व्यक्ति बनता है

एक विधार्थी को अपनी रोज की पढ़ाई रोज ही करनी चाहिए उसे कल पर कल से परसों पर नहीं टालनी चाहिए जैसे

एक किसान अपने खेत में अगर बीज निश्चत समय पर नहीं बोता है और समय निकल जाने के बाद बोता है तो वह एक अच्छी फसल नहीं पैदा कर सकता है ठीक उसी तरह ही एक विधार्थी जो अपनी रोज की पढ़ाई रोज नहीं करता है और जब परीक्षा आती है तब पढ़ाई करने बैठ ते है तो वो परीक्षा में अच्छे मार्क्स नहीं ला पाते है या परीक्षा में फेल हो जाते हैं एक कहावत है

 

का बर्षा जब कृषि सुखाने,

समय चूकि पुनि का पछताने।

 

तब उनको बहुत पछतावा होता है कि आखिर हम रोज की पढ़ाई रोज करते तो हम परीक्षा में बहुत ही अच्छे मार्क्स ला सकते है और बहुत ही अच्छे मार्क्स से पास होते लेकिनअब पछताये होत क्या जब चिड़ियाँ चुग गई खेत

जो विधार्थी समय का सदुपयोग करते हैं वो स्कुल और जीवन की हर एक परीक्षा में सफलता प्राप्त करता है और एक अच्छा व्यक्ति बनता है और

जो विधार्थी समय का दुरपयोग करता है इधर उधर की बातों में, घूमने-फिरने और बेकार के व्यर्थ कामो में वो स्कुल और जीवन की हर एक परीक्षा में अफलता प्राप्त करते है और वो चाहकर भी अपना खोया हुआ समय वापस नहीं ला सकते है

 

काल करे सो आज कर,

आज करे सो अब।

पल में प्रलय होएगी,

बहुरि करेगा कब।।

...कबीर दास दोहे

अर्थ :- इसका अर्थ होता है कल पर टालने वाले काम को आज ही कर ले और आज के काम को अभी कर लो क्योंकि कबीर दास जी मानते हैं कि अगर पल में प्रलय जाएगा तो हम अपना काम नहीं कर पाएंगे

समय का महत्व देते हुए हमें हमेशा समय का सदुपयोग करना चाहिए हमारे जीवन का एक-एक पल बहुत ही कीमती है जिसको हम इधर उधर के बेकार कामों में बर्बाद कर देते है तो हमें जीवन के अन्त में बहुत पछतावा होता है

यह जरुर पढ़े :-

मुझे आशा है की आपको हमारा Samay Ka Mahatva Essay In Hindi पसंद आया होगा आपको हमारा यह निबंध कैसा लगा यह कमेंट करके जरुर बताये और

अगला निबंध किस विषय पर चाहिये वो कमेंट करके जरुर बातये और यदि आपको मेरा यह निबंध अच्छा लगा है तो इसे आप अपने दोस्तों को आप Social Media पर जरुर Share कीजिये जिससे इसकी जानकरीउनको

जानकारी अन्य लोगों को भी मिलनी चाहिए है तो इसे आप Social Media पर जरुर Share कीजिये जिससेवो भी Samay Ka Mahatva Nibandh के बारे में जा सके

आप हमारे साथ Social Media की मदद से भी जुड़ सकते हैं। आप हमें नीचे गये Social Media पर जरुर Follow करे

Post a Comment

Previous Post Next Post